Apne

aaj mujhe phir kuchh apne the dikhe ,
saare dekhe hue sapane the dikhe
jo the dil ke kareeb rishte,
lekin ab toote hue sapane dikhe

 

aankhe nam hueen kuchh khush to kuchh gamageen hueen,
yaaden bo puraanee phir se taaja hueen ,
kabhee un se itana pyaar tha ,ab takaraar hai ,
unaka to pata nahin hamen to un se abhee bhee   pyaar hai ,,

Parivaar par adbhut kahaanee padhne ke liye click karen

ham to yaad karate hai yaad unako baar baar ,..,
aaj mainne kuchh apanon ko dekha
jo toot gaye un sapano ko dekha ,,,,,,,,,,,,
rishte to bahee hain bas taim badal sa gaya hai  ,
unaka tha jo pyaar na  jaane kaise eersha mein badal sa gaya hai

 

tab lagata tha vo hamaare lie logon se bhidate hain
aur dekho vo aaj hamaare naam se bhee chidate hain ,,,

 

yakeen kaise dilaen unako, ham unase aaj bhee  utana hee pyaar karate hain ,
kisee aur par to nahin lekin haan  sirph unapar itavaar karate hain ,
kabhee to unako yakeen aaega shaayad  hamaare jaane ke baad ,
phir to shaayad vo bhee kiya karenge hamen yaad ,

 

jab ham na honge hamaaree yaad hogee
lekin afasos vo bhee hamaare baad hogee
shabd the jo dil mein kalam ne vo likhe,
aaj mujhe phir kuchh apane the dikhe  ,

 

 

 

अपने | Apne

आज मुझे फिर कुछ अपने थे दिखे ,
सारे देखे हुए सपने थे दिखे
जो थे दिल के करीब रिश्ते,
लेकिन अब टूटे हुए सपने दिखे

 

आंखे नम हुईं कुछ खुश तो कुछ गमगीन हुईं,
यादें बो पुरानी फिर से ताजा हुईं ,
कभी उन से इतना प्यार था ,अब तकरार है ,
उनका तो पता नहीं हमें तो उन से अभी भी   प्यार है ,,

 

हम तो याद करते है याद उनको बार बार ,..,
आज मैंने कुछ अपनों को देखा
जो टूट गये उन सपनो को देखा ,,,,,,,,,,,,
रिश्ते तो बही हैं बस टाइम बदल सा गया है  ,
उनका था जो प्यार ना  जाने कैसे ईर्षा में बदल सा गया है

 

तब लगता था वो हमारे लिए लोगों से भिड़ते हैं
और देखो वो आज हमारे नाम से भी चिढ़ते हैं ,,,

 

यकीन कैसे दिलाएं उनको, हम उनसे आज भी  उतना ही प्यार करते हैं  ,
किसी और पर तो नहीं लेकिन हाँ  सिर्फ उनपर इतवार करते हैं ,
कभी तो उनको यकीन आएगा शायद  हमारे जाने के बाद ,
फिर तो शायद वो भी किया करेंगे हमें याद ,

 

जब हम ना होंगे हमारी याद होगी
लेकिन अफ़सोस वो भी हमारे बाद होगी
शब्द थे जो दिल में कलम ने वो लिखे,
आज मुझे फिर कुछ अपने थे दिखे  ,

 

यह भी पढ़ें :-

  1. Money matters part-2
  2. Kali Zuban -2 (काली ज़ुबान-2)
  3. Teri Yaad | तेरी याद
  4. Apshagun-अपशगुन-1
  5. देश की तस्बीर | Desh Ki Tasveer
  6. याद | Yaad

Related Posts