Best Devotional Poetry

Best Devotional Poetry

Devotional poetry is another way to express our feelings to our beloved God. So, we are introducing this section for those who likes to express their feelings in the form of Devotional poetry.

If you got irritated from those many sites who doesn’t post new poetry; then you are on right place. You will be got new Devotional poems regularly on our website. every time when you visit to our website you will get new Devotional poems ready to you.

भक्ति काव्य

भक्ति काव्य हमारे प्यारे भगवान के प्रति हमारी भावनाओं को व्यक्त करने का एक और तरीका है। इसलिए, हम उन लोगों के लिए भक्ति कविता पेश कर रहे हैं, जो भक्ति कविता के रूप में अपनी भावनाओं को व्यक्त करना पसंद करते हैं।

यदि आप उन कई साइटों से चिढ़ गए हैं जो नई कविता पोस्ट नहीं करते हैं; तो आप सही जगह पर हैं। आपको हमारी वेबसाइट पर नियमित रूप से नई भक्ति कविताएं मिलेंगी। हर बार जब आप हमारी वेबसाइट पर जाएँगे तो आपको नई भक्ति कविताएँ मिलेंगी।

Mere Satguru (मेरे सतगुरु)

Mere Satguru (मेरे सतगुरु)

हे मेरे सतगुरु जब आप यूँ  मुस्कुरा देते हो

मन हर्षित हो उठता है जब आप मुस्कुरा देते हो 

Mercy, रहमत, सेवा, sewa

Teri Meherbaniyan | तेरी मेहरबानियाँ

तेरी मेहरबनियाँ:-मन के पार पर इस निरंकार परमपिता परमेश्वर की मेहरबानियों का यशोगान करती हुई इस अद्भुत कविता को पढने के लिए यहाँ क्लिक करें ..

सँसार कर्म की नगरी

सँसार कर्म की नगरी

सँसार कर्म की नगरी सँसार की नश्वरता और प्रभु की सत्यता के साथ साथ मन के कृत्य को समझाते हुए सतगुरु के महत्व को व्यक्त करता एक भक्ति काव्य

Mercy, रहमत, सेवा, sewa

सेवा मानवता की

मानवता की सेवा के रूप में लेखिका के मानवता की सेवा के प्रति मनोभावों को काव्प रूप यढने के लिए यहाँ पर क्लिक करें.

विश्वास करके तो देख

विश्वास करके तो देख

ईश्वर क्या कहते हैं इंसान से लेखक की कलम से इन भावों को हिंदी कविता रूप में पढने के लिए क्लिक करें.

Mercy, रहमत, सेवा, sewa

निरंकार मिलादे

निरंकार मिलादे :- एक भक्त की अपने गुरु के चरणों में प्यार भरी अरदास और इस निरंकार से मिलने की चाह को भक्ति काव्य को पढने के लिए क्लिक करें….

true master,दास दाता

तू कहता है दास (Daas)खुद को

तू कहता है दास (Daas)खुद को  ,दास होने का फर्ज निभाता है ,एक भक्तिमय निरंकारी (Nirankari) काव्य को पढने के लिए यहाँ क्लिक करें ……………..

इसका नाम है प्यार, मेरा जीवन

इसका नाम है प्यार

इसका नाम है प्यार एक कबिता में प्यार को समझने के विभिन्न पडावों को पार करने के बाद अंत में समझ आया कि प्यार है क्या | पढने के लिए क्लिक करें

Mercy, रहमत, सेवा, sewa

जैसा चाहता है कर रहमत (Mercy)बैसा बना दे तू

कर रहमो करम अपना मेरा दिल प्यार से सजा दे चाहता है जैसा कर रहमत (Mercy) वैसा बना दे तू मुझे दिखाया है सबको दिखा दे… इस भक्ति काव्य को पढ़ने के लिए क्लिक करें……..

Scroll to Top