Best Motivational Poetry

इन्सान की फितरत | Insan ki Fitrat

इन्सान की फितरत, insan ki fitrat

इन्सान की फितरत | Insan Ki Fitrat इन्सान की फितरत भी कितनी अजीब है,सब सुख हैं मगर फिर भी गरीब है insan ki fitrat भी कितनी अजीब है, जिंदगी खड़ी मौत के कितने करीब है खुद दुखी दूसरे को सताने का नित नया बहाना बनता है अपनों की तो कद्र …

Read More »

Nazar-नज़र

Nazar-नज़र-andaz-Andaaz-अंदाज़

Nazar-नज़र नज़र (Nazar) का अंदाज़ ना कोई समझ पाया है जो  समझ पाए अंदाज़ वह सबका साया है बहुत करते है लोग जहां वहाँ की बातें जो ना जाने वह सब की तरह ना पाते होता है ज़िक्र अगर नज़रअंदाज़ का मानो जैसा कुछ बुरा भुलाने का इतना नहीं आसान …

Read More »

रुक जाना नहीं – Ruk Jana Nahi

Father

रुक जाना नहीं - Ruk Jana Nahi:-हमने कभी रुक जाना नहीं है हो जाए कुछ भी झुक जाना नहीं है होता है जीवन का कोई ना कोई सपना.............

Read More »