Best Poetry on Reality

Apne

apne

Apne:- apnon par ek bahut hee imotional aur dard bharee kavitaa ko padhne ke liye click karen. अपने:- कविता को पढ़ने के लिए क्लिक करें......

Read More »

ये दुखी बो दुखी

Purana Zamana - पुराना ज़माना

ये दुखी बो दुखी दुखिया सारा संसार है ,चरों तरफ फैला हाहाकार  है ,नफरत है भरी सब के दिलों में ,शब्दों में  कड़वाहट का इजहार है ,

Read More »

किसान आंदोलन

किसान आंदोलन

किसान आंदोलन ने भी एक इतिहास बना डाला है जब साकार के फैसले ने किसानों को दिल दहला डाला है अन्नदाता को मिटाने की अब तैयारी है

Read More »

किसान

किसान

एक किसान मिट्टी में पैदा होता है और मिट्टी में मिट जाता है दर्द इसके दिल का शायद ही कोई समझ पाता है हम सबका पेट भरने की जिस शख्स के हाथों में कमान है जी हां बो कोई और नहीं बो तो एक किसान है।   दो रोटी की …

Read More »

बच्चपन-2

बच्चपन-2

बच्चपन-2 बच्चपन-2 चला गया बच्चपन अब ज़बानी का आग़ज हुआ , शुरु एक नया अध्याय हुआ ,धीरे धीरे बुधि का बिकास हुआ , कोमल तन का रूप यूँ बदला ,एक नये जोश का अबतार हुआ पहले स्कूल ,फिर कालेज ,तब बढ़ने लगा जर्नल नालेज  , पहले माँ ,बाप ,दोस्त ,फिर …

Read More »

एक शख्स

एक शख्स

एक शख्स एक शख्स को ना अपनी खुशियों की फिक्र है ना अपने गमों से उसे गिला है खुश रहता है हर हाल में वो साहब एक शख्स जो कल रात मुझे मिला है। अपना बनकर दिया किसी ने धोखा उसको फिर भी  मुस्कुराकर कर रहा था माफ़ उसको कल …

Read More »

नानी मां का वो गांव | Gaanv

गाँव

नानी मां का वो गाँव (Gaanv) नहीं भूला हूँ मैं आज भी नानी माँ का वो गाँव (Gaanv)। कितना सुखमय बीता मेरे बचपन का वो पड़ाव। ग्राम्य जीवन दुष्कर था पर नहीं था वहाँ तनाव॥   वो कच्ची थी हवेली जहाँ पर खेली आंंख मिचोली। मेरी प्यारी नानी थी वो …

Read More »

शराबी

शराबी

शराबी आज एक शराबी देखा रूप जिसका नबाबी देखा बिना ताल के झूम रहा था ,जन्नत  में यों घूम रहा था , आंखे लाल बिखरे बाल ,कपढ़े उसके सनें हुये थे ,कीचड़ मैं पुरे रमें हुये थे , बिना टाई बो बकालत करता फिरता सब पर  रोभ  झाड़ता कभी ,राजनितज्ञ  …

Read More »

ज़रूरत किरदार की

ज़रूरत किरदार की

ज़रूरत किरदार की बस ज़रूरत किरदार की है था सब कुछ तेरे पास ऐ इन्सान फिर क्या  ज़रूरत थी दीवार की छोड़ कर दामन नेकी का इस बुराई के दीदार की मुझसे कोई पूछे तो तुझे ज़रूरत थी किरदार की   छीन लीं खुशियां तूने मासूम दिलों की ना जाने  …

Read More »