Miss You Poetry

मेरा हमसफ़र

मेरा हमसफ़र, Teri Khair-तेरी ख़ैर

मेरा हमसफ़र:- Best Romantic Poetry की इस अद्भुत और सबसे अलग कविता को मन के पार पर हिंदी में पढने के लिए यहाँ क्लिक करें..............

Read More »

बताया तो होता

एक बार बताया तो होता

एक बार बताया तो होता:- मन के पार की टूटे हुए दिल और याद वाली इस अलग कविता को हिंदी में पढने के लिए यहाँ पर क्लिक करें

Read More »

Teri Yaad-तेरी याद

महफिल में हूं मैं(Mehfil Me Hu Main)

ना रो सके ना कुछ बोल सके ऐसे कुछ हालात थे मेरे  मुझे तो गम था तेरे जाने का, पता नहीं क्या ज़ज्बात थे तेरे 

Read More »

हमें भी प्यार हुआ था

रिश्ता हमारा

हमें भी प्यार हुआ था ,आँखों ही आँखों  मैं इजहार हुआ थाकोईथी जो दिल को इतना लुभा गयी ,इक नशे की तरहा सर पर छा  आ गयी ,

Read More »

खबर

खबर

खबर:- ऐसा नहीं है के भूल पाया हूँ मैं परतेरी यादों ने फिर से पागल बना दिया मुझकोतू तो है खुश अपनी दुनिया में लेकिनमैं ..............

Read More »

सो सा गया हूँ मैं

महफिल में हूं मैं(Mehfil Me Hu Main)

सो सा गया हूँ मैं:-जब से देखा है तेरी आँखों को कहीं खो सा गया हूँ मैं जगता तो बहुत हूँ रातों को पर लगता है जैसे सो सा गया हूँ मैं तेरी मु.....

Read More »

रुलाया गया हूँ मैं

रुलाया गया हूँ मैं, Dukh

रुलाया गया हूँ मैं   कभी रुलाया तो कभी जलाया गया हूँ मैं तुझ से मिलने से पहले न जाने कितनी बार ठुकराया गया हूँ मैं   समझा खिलौना तो किसी ने मूरत बना डाला कहीं हुआ बदसूरत तो कहीं खूबसूरत बना डाला यूँही फूल की भांति सबके पैरों में …

Read More »

बच्चपन-2

बच्चपन-2

बच्चपन-2   बच्चपन-2 चला गया बच्चपन अब ज़बानी का आग़ज हुआ , शुरु एक नया अध्याय हुआ ,धीरे धीरे बुधि का बिकास हुआ , कोमल तन का रूप यूँ बदला ,एक नये जोश का अबतार हुआ पहले स्कूल ,फिर कालेज ,तब बढ़ने लगा जर्नल नालेज  , पहले माँ ,बाप ,दोस्त …

Read More »

गाँव

गाँव

गाँव नहीं भूला हूँ मैं आज भी नानी माँ का वो गाँव। कितना सुखमय बीता मेरे बचपन का वो पड़ाव। ग्राम्य जीवन दुष्कर था पर नहीं था वहाँ तनाव॥   वो कच्ची थी हवेली जहाँ पर खेली आंंख मिचोली। मेरी प्यारी नानी थी वो अति सीधी और भोली। बहुत मिली …

Read More »