Best Poetry

बच्चपन | Childhood

बच्पन्न, bachpan, childhood

बच्चपन:- वो जमाना भी तो क्या जमाना थासब थे अपने ना कोई बेगाना थाकोमल तन नाजुक मनबस जीने का बहाना था...click here to read full.....

Read More »

नया पैगाम | Naya Paigam

नया पैगाम

नया पैगाम एक ऐसी लघु कविता है जिसमें आपको इंसानियत झलकती हुई साफ़ दिखाई देगी जो आज के हालातों से जुडी हुई है I कविता पढने के लिए क्लिक करें

Read More »