देश की तस्बीर, Desh

देश की तस्बीर | Desh Ki Tasveer

देश की तस्बीर (Desh Ki Tasveer)

आज भारत देश की तस्बीर(Desh Ki Tasveer) तुम्हे दिखता हूँ,

कुछ बातें हैं दुःख देने वाली आओ तुम्हे सुनाता हूँ,

 

जाती वाद है  और बढ़ा

भाई के बिरुद्ध है भाई लड़ा

ऊँच नीच में देश बंट रहा

देश की ब्यथा तुमको सुनता हूँ,

आज भारत…………………………

 

पैसे और पावर की सब माया है

बाकी सब तो ढलती छाया है

पैसे और पवार के किस्से

आओ तुम्हें मैं सुनाता हूँ

आज भारत…………………………

 

विकास के नाम का धोखा है

देश लूटने का मौका है

चन्द पूंजीपतियों को और धनवान बनाने का

इस सरकार का किस्सा सुनाता हूँ

आज भारत…………………………

 

 

लगता है कहीं चुनाब आया है, काग़ज़ों में  बिकास है होता,

मूक होकर देख रहे सब, कैसे  ग़रीब का  नास है होता ,

देश हित के जो भ्रम हैं पाले वो सारे भ्रम मिटाता हूँ

आज भारत…………………………

 

 

aaj bhaarat desh kee tasbeer tumhe dikhata hoon,

kuchh baaten hain duhkh dene vaalee aao tumhe sunaata hoon,

 

jaatee vaad hai  aur badha

bhaee ke biruddh hai bhaee lada

oonch neech mein desh bant raha

desh kee byatha tumako sunata hoon,

aaj bhaarat…………………………

 

paise aur paavar kee sab maaya hai

baakee sab to dhalatee chhaaya hai

paise aur pavaar ke kisse

aao tumhen main sunaata hoon

aaj bhaarat…………………………

 

vikaas ke naam ka dhokha hai

desh lootane ka mauka hai

chand poonjeepatiyon ko aur dhanavaan banaane ka

is sarakaar ka kissa sunaata hoon

aaj bhaarat…………………………

 

lagata hai kaheen chunaab aaya hai, kaagazon mein  bikaas hai hota,

mook hokar dekh rahe sab, kaise  gareeb ka  naas hai hota ,

desh hit ke jo bhram hain paale vo saare bhram mitaata hoon

aaj bhaarat…………………………

 

यह भी पढ़ें :-

  1. नानी मां का वो गांव | Gaanv
  2. Apne

  3. फ़ौजी की ज़िन्दगी
  4. Money matters

 

 

About Ranbir Singh Bhatia

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *