मेरा हमसफ़र, Teri Khair-तेरी ख़ैर

मेरा हमसफ़र

मेरा हमसफ़र

मेरा हमसफ़र है इस दुनिया से न्यारा 

बहनों का प्यारा, और माँ बाप का सहारा 

दिखने में है बड़ा ही साधारण प्राणी

झट से   कर देता है  बंद सबकी बाणी

इसे भी पढ़ें :प्यारा सा बेटा 

 

यह लड़का तो अक्ल में  सबसे सयाना है 

मेहनत और ईमानदारी से ही इसको कमाना है 

कभी बेबजह किसी को ना यह सुनाए

अगर करे कोई गलती वो करके पछताए

 

 

हुई  थी पहली मुलाकात उनसे हमारी

सोचा ना था के बन जायेगी  रिश्तेदारी

दिखने में है बहुत ही मासूम सा  मगर

डर जाते सारे हो जाये गुस्सा अगर 

 

इसे भी पढ़ें :- आए हो ज़िंदगी में 

 

फिर मानो जैसे संसार ही खत्म हमारा

फिर मनाने का सिलसिला शुरू मेरा

थोडा सा रूठना और दिखावा बहुत बड़ा

स्वभाव से है शांत और दिल है प्यार से भरा

 

इसे भी पढ़ें :- इसका नाम है प्यार  

 

किसी की दुःख तकलीफ नहीं इससे देखी जा सकती 

चाहे खुद हो कितना तंग पर दूसरों की सहायता ही है इसकी भक्ति 

साथ निभाता  है सबका वो हर मुश्किल पर

फिर साथ नज़र ना आए कोई किसी भी मुश्किल  पर

 

इसे भी पढ़ें :- एक शख्स 

 

सोचा न था ऐसा कुछ भी उसके बारे में 

साथ उसके ज़िंदगी बिताने के बारे में 

उसकी एक नज़र ने ही मुझो अपना बना लिया 

सोचा ना था इतना प्यार लुटा दिया 

 

इसे भी पढ़ें :- चाहत

 

गुनाह तो मैंने भी किया आपका दिल दुखाने का

लेकिन अब वादा है खुद से  भी आपको चाहने का

कैसे करूं ब्यान मै अपनी चाहतों को उससे 

है सबसे अलग और इस दिल के करीब सबसे  

 

इसे भी पढ़ें :- स्थिरता 

 

करता  है प्यार बेइंतिहा  महोब्बत भी मुझसे

पर चाह कर भी ज़ाहिर करता नहीं कभी  मुझसे

मेरे हमसफ़र  के बारे में जितना भी लिखूं पूरा लिख ना पाऊं 

कितना प्यार  है उससे , लफ्जों में  कभी वयां ना कर पाऊं

 

इसे भी पढ़ें :- ऐतवार नहीं होता  

 

सुख ,दुःख और मुश्किल में भी दूंगी उसका साथ

उसने भी तो छोड़ा नहीं कभी किसी मुसीबत में मेरा हाथ 

उसके साथ और प्यार बिना ये जीवन बेकार है 

उसके हर बात पर मुझे अब इतवार है 

 

यह भी पढ़ें :-

  1. मुस्कुराहट-Muskurahat
  2. मेरा जीवन
  3. जैसा चाहता है कर रहमत (Mercy)बैसा बना दे तू
  4. Best Romantic Poetry

 

 

 

About Sukh

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *