Nazar-नज़र-andaz-Andaaz-अंदाज़

Nazar-नज़र

Nazar-नज़र

नज़र (Nazar) का अंदाज़ ना कोई समझ पाया है
जो  समझ पाए अंदाज़ वह सबका साया है

बहुत करते है लोग जहां वहाँ की बातें
जो ना जाने वह सब की तरह ना पाते

होता है ज़िक्र अगर नज़रअंदाज़ का
मानो जैसा कुछ बुरा भुलाने का

इतना नहीं आसान है यह करना
कर दो अगर तो लगता है अपना

फिर साकार हो जाये सबका सपना
फिर वो हो चाहे पराया या हो अपना

इससे बड़ा नहीं होता कोई भी पुण्य
मन हो साफ तो मिल  जाता है मूल्य

करता है हर कोई एक दूसरे को परेशान
सुना कर खरी खोटी और करता अपमान

चाहे कर पाए या ना कर पाए कोई मुश्किल का हल
चट्टान बन कर खड़ा रहोगे तो बन पाओगे किसी काबिल

 

यह भी पढ़ें :-

  1. मुस्कराहट 
  2. प्यार 
  3. हमसफ़र 
  4. पिता 
  5. फ़ौजी 
  6. किसान
  7. तेरे लई 

 

 

 

nazar  ka andaaz na koee samajh paaya hai
jo  samajh pae andaaz vah sabaka saaya hai

bahut karate hai log jahaan vahaan kee baaten
jo na jaane vah sab kee tarah na paate

hota hai zikr agar nazarandaaz ka
maano jaisa kuchh bura bhulaane ka

itana nahin aasaan hai yah karana
kar do agar to lagata hai apana

phir saakaar ho jaaye sabaka sapana
phir vo ho chaahe paraaya ya ho apana

isase bada nahin hota koee bhee puny
man ho saaph to mil  jaata hai mooly

karata hai har koee ek doosare ko pareshaan
suna kar kharee khotee aur karata apamaan

chaahe kar pae ya na kar pae koee mushkil ka hal
chattaan ban kar khada rahoge to ban paoge kisee kaabil

About Sukh

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *