निरंकार मिलादे

हे साकार निरंकार मिलादे .

देख सकूँ इसे  बो  चक्षु  लगादे  .,

दीदार कराँ मैं उठदा बेह्न्दा ,

हर साह दे नाल नाम नूं   लैंदा ,

हर कदम चल सकूं मैं ज्ञान दे रस्ते ,

ताकि ये जीबन कट जाये हस्ते हस्ते ,

ध्यान च  मेरे निरंकार बसादे  ,

हे साकार ……… ,………………………..

निरंकार पर Best quote को पढने के लिए यहाँ क्लिक करें   

ज्ञान दी है किती तूं रहमत ,

तेरे हर वचन तों होवां मैं सहमत .

बिना ज्ञान तों मैं सी भक्षक

भक्षक तों  तूं बनाता रक्षक ,

 

अज्ञान दा तूं दूर किता हनेरा

मेरे जीबन च  हुन होया सबेरा .

तेरी रजा बिच रहना आजाये .

तू ही निरंकार कहना आजाये ,,

दाता तूं मैनू दर्श  दिखादे .

अपनी रजा बिच रहना सिखादे ,,

हे साकार निरंकार मिलादे

 

यह भी पढ़ें :-

  1.  इंसानों में पाया है एक अद्भुत कविता को पढने के लिए यहाँ क्लिक करें 
  2. Gajab Hai Teri Maya (गजब है तेरी माया)
  3. करो दुआ मेरे लिए

 

 

Related Posts

This Post Has 8 Comments

Comments are closed.