Pyar kee dastan – प्यार की दास्ताँ

बड़ी ही अजीब सी दास्ताँ है मेरे प्यार की
ललक सी लगी रहती है तेरे दीदार की

धीरे धीरे मेरा तेरी जिंदगी से यूँ होना था गहरा नाता
आपके बिना रहना तो दूर सोचने तक से दिल है डर जाता

 

आपका मिलना ऐसे जैसे हमें   मिली है एक नयी जिंदगी
सच मानो आपको सजदा करना ही इबादत्त है यही  मेरी बन्दगी

 

आपके मिलने से पहले यह रूह थी  बेजान सी
मिले जो आप तो आ गई है इसकी   जान में जान सी

 

चाहत आपकी  में तो मानो  हम खो से गए इस कद्र
हो गए पागल इस तरह से जिसकी नहीं रही खुद को  खबर

 

आपका मिलना तो हमारा बन गया था एक सपना
यह सच होने में पता नहीं वक़्त क्यूँ लगा है इतना

 

सच तो हो गया है ना जाने कैसा डर सताता है
जो पता नहीं क्यूँ बार बार मेरा  दिल घबरा जाता है

 

तेरा मिल जाना ही सबसे बड़ी ख़ुशी है मेरी  माहिया
ना छोड़ना मेरा साथ इस दुनियाँ में  हे मेरे साईयां

 

मिलन तो  एक अजब ही करिश्मा है अपना
यकीन नहीं होता लगता है सब मुझको सपना

 

करते हैं  हम आपको जाने अनजाने में दुखी
पर खुद को भी कभी रहने नहीं देते हैं सुखी

 

करते है प्यार आपसे और करेंगे उम्रभर
शुक्र गुज़ार है हम आपके ज़िन्दगी भर

 

कैद रखना हमें अपने प्यार की मज़बूत डोर से
अब कोई दरार ना आने पाए कभी कहीं और से

 

हम तो खुश हो जाते है आपके अपनापन जताने से
आपके लिए मोहब्बत ना मिटेगी अब किसी के मिटाने से

 

यह भी पढ़ें :-

  1. रिश्ता हमारा 
  2. Wah Re Pyar Krne wale
  3. शुरुआत किसी रिश्ते की 
  4. वाह रे प्यार करने वाले 
  5. महफिल में हूं मैं(Mehfil Me Hu Main)

 

 

Related Posts