Mercy, रहमत, सेवा, sewa

मानवता की सेवा (Sewa)

मानवता की सेवा(Sewa)

मानवता की सेवा(Sewa) का  मिल कर करें प्रयास

सबके  जीबन में  हो  सब कुछ खास

 

मानव ही हो मानव को प्यारा

एक दुसरे का बने सहारा

हो अगर किसी से दुश्मनचारा

जल्दी ही बना ले हम प्यार से भाईचारा

 

करें ना हम किसी का भी  अपमान

दे दातार सबको समझ वाला ज्ञान

एसे ही  करें  हम  सबका सम्मान

तभी खुश हो पायेगा हर एक इंसान

 

वैर, तकरार ,इर्षा  ,नफरत और अभिमान

किसी के भी  मन मे ना हो ऐसा ध्यान

दे  ऐसा ही सबको  मेरे सतगुरु वरदान

सबको मिले सुख समृधी और भक्ति दान

 

करें  अरदास हम सभी इस मुरशद के

पवित्र और पावन चरनो में  सर झुका के

ना दुखाएँ दिल किसी का भूल के

दिल जीतें सबका निष्काम सेवा  करके

 

हो प्यार ही प्यार इस संसार में

मिलें हम सबसे  बिना मलतब के

हो  इतना प्यार और  विश्वास  सभी पे

निरंकार का  आभार हो हमारे जीवन में

 

इसका सहारा लेकर चलते रहें हम

जाति धर्म को पीछे छोड़ कर हम

मानव की कद्र करते चलें हम

सेवा का भाव और जज्वा लेकर बड़ते रहें हम

 

यह भी पढ़ें:-

  1. विश्वास करके तो देख
  2. Best Devotional Poetry
  3. लालच बुरी बला है
  4. Best Quotes
  5. इश्क हकीकी 
  6. Best Every Poetry
  7. ना अब दिल दुखाएंगे
  8. Gajab Hai Teri Maya (गजब है तेरी माया)

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

About Sukh

Avatar